Tuesday, August 11, 2020
Ghutno ke dard ka gharelu ilaj bataye

मानव शरीर में पैर जितने ही महत्त्वपूर्ण हैं, उतने ही उनके बीच में बने घुटने। उन्हीं से पैरों को मुड़ने की क्षमता मिलती है। कई बार ऐसा होता है कि चलते-फिरते, उठते-बैठते या फिर सीढ़ियां चढ़ते-उतरते समय हमारे घुटने में चोट लग जाती है। इन्हिं घुटनों में कई कारणों से दर्द होने लग जाता है।लेकिन कई बार चोट इतनी गहरी होती है कि उसके लिए दवा लेनी पड़ती है। वहीं, कुछ लोगों को अर्थराइटिस के कारण भी घुटने का दर्द होता है।

इससे बचने के लिए घुटनों के दर्द की दवा खाने से बेहतर घरेलू उपचार करना होता है।

हल्दी पाउडर


1.) 1छोटा चम्मच हल्दी पाउडर
2.) 1 छोटा चम्मच पीसी हुई चीनी, या बूरा या शहद
3.) चुटकी चूना (जो पान में लगा कर खाया जाता है)
4.)आवश्यकतानुसार पानीइन सभी को अच्छी तरह मिला लीजिये.
5.)एक लाल रंग का गाढ़ा पेस्ट बन जाएगा.

यह पेस्ट कैसे प्रयोग करें:- सोने से पहले यह पेस्ट अपने घुटनों पे लगाइए. इसे सारी रात घुटनों पे लगा रहने दीजिये.सुबह साधारण पानी से धो लीजिये.कुछ दिनों तक प्रतिदिन इसका इस्तेमाल करने से सूजन, खिंचाव, चोट आदि के कारण होने वाला घुटनों का दर्द पूरी तरह ठीक हो जाएगा.

सेब का सिरका

सामग्री :
दो चम्मच सेब का सिरका
एक गिलास गर्म पानी
विधि :
सेब के सिरके को पानी में डालकर अच्छी तरह मिक्स करें।
फिर इस पानी को पी जाएं। संभव हो, तो भोजन से पहले इसे पिएं।
आप सेब के सिरके को थोड़े-से नारियल तेल में मिक्स करके प्रभावित जगह पर लगा भी सकते हैं।

आप प्रतिदिन कम से कम दो बार तो जरूर करें।

कैसे है फायदेमंद :
सेब के सिरके में एसिटिक एसिड होता है, जो एंटीइंफ्लेमेटरी की तरह काम करता है। इस गुण के कारण ही यह जोड़ों में दर्द व घुटने की सूजन को कम कर सकता है ,घुटने के दर्द का इलाज करने के लिए आप इस विधि को अपना सकते हैं।

अदरक

अदरक एक गुणकारी जड़ीबुटी की तरह काम करता हैं इसके सेवन से कई तरह के रोग दूर होते हैं .

Adarak

अदरक को पानी में डालकर करीब पांच मिनट तक उबालें।
इसके बाद पानी को छानकर थोड़ा ठंडा होने के लिए रख दें।
फिर कपड़े को इस पानी में डालकर निचोड़ लें और प्रभावित जगह पर रखें।
अब शरीर के प्रभावित हिस्से को इस कपड़े से लपेट दें।
आप इस पानी को चाय की तरह पी भी सकते हैं।

बेहतर परिणाम के लिए इसे दिन में कई बार किया जा सकता है। रोजाना दो से तीन बार अदरक की चाय पियें .

अगर आपको ऑस्टियोअर्थराइटिस के कारण घुटने में दर्द हो रहा है, तो आप इससे निपटने के लिए अदरक का इस्तेमाल कर सकते हैं । अदरक में जिंजेरॉल पाया जाता है, जो एंटी-इंफ्लेमेटरी की तरह काम करता है। साथ ही इसे एनाल्जेसिक यानी दर्द को कम करने वाली जड़ी-बूटी भी माना गया है आप घुटने के दर्द का इलाज करने के लिए अदरक का प्रयोग कर सकते हैं।

मेथी

मैथी दाना जोड़ो के एवम घुटनों के दर्द में राहत देता हैं . इसके लगभग 30 से 90 दिनों के सेवन बाद बरसों पुँराना दर्द ठीक होने लगता हैं

 विधि :

पानी में मेथी दाने डालकर रातभर के लिए छोड़ दें।
अगली सुबह पानी को छानकर पी लें।
आप पानी के साथ मेथी दानों को पीसकर पेस्ट भी बना सकते है। फिर इस पेस्ट को प्रभावित जगह पर लगाएं।
आप रोज एक बार इस पेस्ट का इस्तेमाल जरूर करें।
फायदेमंद
मेथी दानों में भी एंटी-इंफ्लेमेटरी और एनाल्जेसिक गुण होते हैं, जो पेन किलर की तरह काम करते हैं। इसके इस्तेमाल से घुटने की सूजन को कम किया जा सकता है। मेथी दाने के इस्तेमाल से घुटनों के दर्द का इलाज किया जा सकता है।

मालिश 

आप मालिश के लिए तिल का तेल या अरंडी का तेल ले सकते हैं। घुटनों का दर्द का उपाय अरंडी के तेल से किया जा सकता है। मालिश करने से घुटनों में रक्त का संचार ठीक तरह से होने लगता है। इससे घुटनों में आई सूजन धीरे-धीरे कम होने लगती है और दर्द से भी आराम मिलता है।
शारीरक योगासन 

1.ताड़ासन सीधे खड़े होकर, अपनी पीठ सीधी करें और धीरे से अपने पंजो के बल पर खड़े होकर जितना हो सके उसे खींचे . ऐसा बार- बार करें और कुछ समय उसी स्थिती में होल्ड करें .

2.पदहस्तासन इसमें सीधे खड़े होकर कम को आगे की तरफ झुकाते हैं और घुटनों को मोड़े बिना पैर के पंजे छूते हैं .

3.पर्वतासन पदहस्तासन करते हुए हाथो को आगे की तरफ ले जाते हुए फर्श पर रखते हैं एवम पैरो को पीछे की तरफ ले जाते हैं. पीठ को उपर की तरफ रखते हैं एक पर्वत का आकार बनाते हैं . साथ ही रीढ़ की हड्डी एवम घुटनों को सीधे रखते हैं .

4.त्रिकोणासन इसमें पैरो को फैलाकर कमर से झुकते हैं एवम सीधे हाथ से उल्टा पैर एवम उलटे हाथ से सीधे पैर के पंजे को क्रमशः छूटे हैं .

5.भुजंगासन इसमें पेट के बल लेट कर हाथ के पंजो को जमीन पर सटा कर रखते हैं और कोहनी को थोड़ा खोलकर शरीर आगे के भाग को उपर की तरह उठाते हैं . ध्यान रहे कोहनी थोड़ी मुड़ी हुई रहती हैं .

क्या न खाएं : आप अधिक नमक, तली-भूनी व मिर्च-मसाले वाली चीजें, अधिक मीठा व सोडा आदि का सेवन न करें। साथ ही शराब व धूम्रपान से भी दूरी बनाए रखें।

हमें उम्मीद है कि इन घरेलू उपचारों से आपको जरूर फायदा होगा। आप अपने विचार व सुझाव नीचे दिए कमेंट बॉक्स के जरिए हमारे साथ शेयर कर सकते हैं।

Tags: , , , , , , , , , ,
Avatar

0 Comments

Leave a Comment

FOLLOW US

GOOGLE PLUS

PINTEREST

INSTAGRAM

YOUTUBE

Advertisement

RECENTPOPULARTAG