Wednesday, October 23, 2019
इंडियन आर्मी की इन खतरनाक रेजिमेंट का नाम सुनते ही डर से कांपने लगता है दुश्मन | |

इंडियन आर्मी की इन खतरनाक रेजिमेंट का नाम सुनते ही डर से कांपने लगता है दुश्मन | |

आजादी के बाद ताकतवर इंडियन आर्मी अपने अस्तित्व में आई | इंडियन आर्मी की रेजिमेंट्स दुनिया भर में मशहूर है | आज हम आपको भारतीय सेना के कुछ ऐसे रेजिमेंट्स के बारे में बताने जा रहे है जिनका नाम सुनकर ही दुश्मन भयभीत हो जाते है |

1 . पैराशूट रेजिमेंट – 29 अक्टूबर 1941 को पैराशूट रेजिमेंट की स्थापना हुई थी | 1999 में हुए कारगिल युद्ध दौरान 10 में से 9 पैराशूट बटालियन की तैनाती ऑपरेशन विजय के लिए की गई थी | इस प्रकार पैराशूट बटालियन ने कारगिल युद्ध के विजय में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी | पैराशूट रेजिमेंट के कमांडो दुनिया के खतरनाक कमांडो में से एक माने जाते है |

पैराशूट रेजिमेंट

2 . गोरखा रेजिमेंट – गोरखा रेजिमेंट की शूरवीरता किसी परिचय की मोहताज नहीं है | टार्गेट को नष्ट करना ही इस रेजिमेंट का सबसे बड़ा लक्ष्य है | जय महाकाली , आयो गोरखाली की गूंज से ही दुश्मन का दिल दहल जाता है |

गोरखा रेजिमेंट

3 . राजपूत रेजिमेंट – ब्रिटिश आर्मी ने 1978 में बंगाल नेटिव इन्फेंट्री के जरिए हैदर अली से युद्ध में कुडालोर पर विजय पाई थी | इस बहादुर के लिए विपरीत दिशाओ में बने कटारो का राज चिन्ह प्रदान किया गया था | यह चिन्ह आज तक राजपूत रेजिमेंट का बैज है | राजा रामचंद्र की जय उद्धघोष के साथ राजपूत रेजिमेंट बड़े गर्व से देश की सेवा करती है |

Rajput

4 . ग्रेनेडियर्स रेजिमेंट – ग्रेनेडियर्स रेजिमेंट को सेना में सबसे शक्तिशाली रेजिमेंट माना जाता है | इस रेजिमेंट का एक ही लक्ष्य होता है की दुश्मन के सामने खुद को मजबूत बनाये रखना |

ग्रेनेडियर्स रेजिमेंट

5 . मैकेनाइज्ड इंफ्रेंट्री रेजिमेंट – 1979 में मैकेनाइज्ड इंफ्रेंट्री रेजिमेंट की स्थापना हुई | मैकेनाइज्ड इंफ्रेंट्री रेजिमेंट श्रीलंका में ऑपरेशन पवन पंजाब और जम्मू कश्मीर में ऑपरेशन विजय में भाग ले चुकी है | यहां तक कि कांगो , सोमालिया और सियरा लियोन में संयुक्त राष्ट्र शांति अभियानों में भी मैकेनाइज्ड इंफ्रेंट्री रेजिमेंट की सशक्त मौजूदगी रही है | लद्दाख और सिक्क्म के ऊंचाई वाले क्षेत्रों मे संचालन के लिए इस रेजिमेंट को विशेष गौरव प्राप्त है |

मैकेनाइज्ड इंफ्रेंट्री रेजिमेंट

6 . पंजाब रेजिमेंट – बोल ज्वाला माता की जय और जो बोले सो निहाल सत श्री अकाल का जयघोष सुनकर ही दुश्मन के दिल दहल जाते है | लोंगेवाला की लड़ाई में पंजाब रेजिमेंट का जौहर पूरी दुनिया को पता है |

पंजाब रेजिमेंट

7 . जाट रेजिमेंट – यह सेना की सबसे पुरानी और सबसे ज्यादा वीरता पुरस्कार विजेता रेजिमेंट है | आजादी के बाद इस आर्मी ब्रिगेड ने 8 महावीर चक्र , 8 कीर्ति चक्र , 32 शौर्य चक्र और 170 सेना पदक जीते है |

पंजाब रेजिमेंटपंजाब रेजिमेंट

8 . मद्रास रेजिमेंट – 1750 के दशक में अंग्रजो ने मद्रास रेजिमेंट की स्थापना की थी | यह रेजिमेंट भारतीय सेना की सबसे पुराने रेजिमेंट में से एक है | इस रेजिमेंट में 23 बटालियन है |

पंजाब रेजिमेंट

9 . सिख रेजिमेंट – भारतीय सेना का गौरव बढ़ाने में सिख रेजिमेंट का संबसे बड़ा योगदान है | इस रेजिमेंट ने 72 लड़ाई ऑनर्स , 15 रंगमंच ऑनर्स , 2 परमवीर चक्र , 14 महावीर चक्र , 5 कीर्ति चक्र , 67 वीर चक्र और 1596 अन्य वीरता पुरस्कार जीते है |

पंजाब रेजिमेंट

10 . डोगरा रेजिमेंट – डोगरा रेजिमेंट की स्थापना अंग्रेजो ने सन 1877 में की थी | युद्ध में पाकिस्तान को कई बार हराने का श्रेय डोगरा रेजिमेंट को जाता है भारतीय सेना के सबसे खतरानक रेजिमेंट में डोगरा रेजिमेंट का नाम भी शामिल है |

डोगरा रेजिमेंट

आर्मी तो देश की शान , जिंदादिली है जिसकी पहचान ,, जय हिन्द , जय भारत

Tags: , , , , , ,
Avatar

0 Comments

Leave a Comment

FOLLOW US

GOOGLE PLUS

PINTEREST

INSTAGRAM

YOUTUBE

Advertisement