Thursday, May 28, 2020
Benefits of Triphala Powder | त्रिफला चूर्ण के फायदे

त्रिफला एक प्रसिद्ध आयुर्वेदिक रासायनिक फ़ार्मुला है जिसमें अमलकी (आंवला (Emblica officinalis)), बिभीतक (बहेडा) (Terminalia bellirica) और हरितकी (हरड़ Terminalia chebula) को बीज निकाल कर (1 भाग हरड, 2 भाग बहेड़ा, 3 भाग आंवला) 1:2:3 मात्रा में लिया जाता है। त्रिफला शब्द का शाब्दिक अर्थ है “तीन फल”।

आयुर्वेद में ऐसे कई चूर्ण का उल्लेख किया गया है जो हमारे शरीर को ताकत और स्वास्थ प्रदान करने के लिए कारगर हैं आज हम आपको एक ऐसे चूर्ण के बारे में विस्तार से बताएँगे जिसके सेवन से आपको मांस से भी ज्यादा ताकत और मांस से ज्यादा फायदे मिल जायेंगे,बता दें कि हम बात कर रहे हैं त्रिफला चूर्ण की जो अपने आप में ही एक वरदान है,तो चलिए जान लेते है

त्रिफला चूर्ण के फायदे।

कब्ज दूर करने में
1.रात को सोते वक्त 5 ग्राम (एक चम्मच भर) त्रिफला चूर्ण हल्के गर्म दूध अथवा गर्म पानी के साथ लेने से कब्ज दूर होती है।
2.त्रिफला व ईसबगोल की भूसी दो चम्मच मिलाकर शाम को गुनगुने पानी से लें इससे कब्ज दूर होती है।

कमजोरी दूर करे

आपको बता दें कि अगर पोषक तत्वों की कमी से आपके शरीर में कमजोरी आ गयी है तो मात्र सात दिन तक त्रिफला चूर्ण का सेवन करें इससे आपको बहुत ही जल्द लाभ मिलेगा आपके शरीर को ताकत मिलेगी।

आँखों के लिए
इसके सेवन से नेत्रज्योति में आश्चर्यजनक वृद्धि होती है।

1.शाम को एक गिलास पानी में एक चम्मच त्रिफला भिगो दे सुबह मसल कर नितार कर इस जल से आँखों को धोने से नेत्रों की ज्योति बढती है।
2.एक चम्मच बारीख त्रिफला चूर्ण, गाय का घी10 ग्राम व शहद 5 ग्राम एक साथ मिलाकर नियमित सेवन करने से आँखों का मोतियाबिंद, काँचबिंदु, दृष्टि दोष आदि नेत्ररोग दूर होते हैं। और बुढ़ापे तक आँखों की रोशनी अचल रहती है।

पेट के रोग दूर
त्रिफला के चूर्ण को गौमूत्र के साथ लेने से अफारा, उदर शूल, प्लीहा वृद्धि आदि अनेकों तरह के पेट के रोग दूर हो जाते हैं।

हाई ब्लड प्रेशर में राहत

त्रिफला का सेवन करने से हृदय रोग, मधुमेह और उच्च रक्तचाप में आराम मिलता है. यदि आप भी उच्च रक्तचाप या मुधमेह के बढ़ते स्तर से परेशान हैं तो तीन से चार ग्राम त्रिफला के चूर्ण का सेवन प्रतिदिन रात को सोते समय दूध के साथ कर लें. राहत मिलेगी.

वजन बढ़ाने में

अगर आप दुबलेपन से परेशान हैं और लाख कोशिशों के बावजूद आपका वजन नहीं बढ़ रहा है तो आप सात दिनों तक इस प्रयोग को जरुर आजमायें,बता दें कि आपको दो चम्मच त्रिफला सुबह खाली पेट पानी के साथ खाना है इससे कुछ ही दिनों में आपको साफ़ साफ़ फर्क दिखने लगेगा।

बालों का झड़ना कम करे
त्रिफला में एंटी इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं जो डैंड्रफ़ से लड़कर बालों को झड़ने से बचाते हैं। बालों की जड़ों में खुजली से छुटकारा पाने के लिए एक गिलास त्रिफला पानी पीना बेहतर उपाय है या इस पानी को जड़ों पर लगा भी सकते हैं।

मुंह के लिए

एक चम्मच त्रिफला को एक गिलास ताजे पानी में दो- तीन घंटे के लिए भिगो दे, इस पानी को घूंट भर मुंह में थोड़ी देर के लिए डाल कर अच्छे से कई बार घुमाये और इसे निकाल दे। कभी कभार त्रिफला चूर्ण से मंजन भी करें इससे मुँह आने की बीमारी, मुंह के छाले ठीक होंगे, अरूचि मिटेगी और मुख की दुर्गन्ध भी दूर होगी।

अन्य समस्या

अगर आपका पाचन सही नहीं है,सिर में दर्द की समस्या से आप परेशान हैं,एसिडिटी की समस्या,यादाश्त कमजोर होना,पोषक तत्वों की कमी और कमजोरी लगना जैसी समस्या से आप परेशान हैं तो त्रिफला चूर्ण का सेवन जरुर करें इससे आपको सौ प्रतिशत लाभ मिलेगा।

Tags: , , , , , , , , , , , ,
Avatar

1 Comment

Avatar
Harigovind Shakya April 12, 2020 at 11:15 pm

Sir hamari running thik nhi h
My family ki think h ki hum army join kr le

Leave a Comment

FOLLOW US

GOOGLE PLUS

PINTEREST

INSTAGRAM

YOUTUBE

Advertisement

RECENTPOPULARTAG