Saturday, October 31, 2020
किशमिश सुबह खाएं भिगोकर जिससे सेहत रहे बेहतरीन

किशमिश एक ऐसा ड्राई फ्रूट है जो दूसरे ड्राई फ्रूट्स की तुलना में सस्ता होता है और यही इसकी लोकप्रियता का प्रमुख कारण भी है। किशमिश का इस्तेमाल न केवल मीठे व्यंजनों में किया जाता है बल्कि कई जगहों पर तो इसे चाट में भी डालकर सर्व किया जाता है।
अगर आप भी रोज नट्स और किशमिश खाते हैं, तो अच्छी बात है। मगर क्या आपको पता है कि अगर आप किशमिश को रात में भिगोकर खाते हैं, तो यह ज्यादा फायदेमंद हो जाता है। अगर आप रोजाना सिर्फ 10 किशमिश के दानों को रात में भिगोकर सुबह खाएं, तो इससे कई तरह के रोगों और बीमारियों से बचाव होगा। साथ ही सेहत भी बेहतर होगी।
अगर आपके मन में किशमिश को लेकर उत्सुकता जाग चुकी है, तो इस लेख को अंत तक जरूर पढ़ें। हमारे साथ जानिए कि किशमिश आतंरिक स्वास्थ्य से लेकर त्वचा व बालों पर किस प्रकार काम करती है।
किशमिश खाने का सबसे अच्छा तरीका है कि इसे रात में पानी में भिगोकर रख दें और सुबह फूल जाने पर खाएं और किशमिश के पानी को भी पी लें। भीगी हुई किशमिश में आयरन, पोटैशियम, कैल्शियम, मैग्नेशियम और फाइबर भरपूर होता है। इसमें मौजूद शुगर प्राकृतिक होती है इसलिए सामान्यतः इसका कोई नुकसान नहीं होता है मगर डायबीटीज के मरीजों को किशमिश नहीं खानी चाहिए। किशमिश वास्तव में सूखे हुए अंगूर होते हैं। ये कई रंगों में मौजूद होत हैं मसलन गोल्डन, हरा और काला। इसके अलावा आप कई सब्जियों के स्वाद को बेहतर बनाने के लिए भी किशमिश का इस्तेमाल कर सकते हैं।

किशमिश खाने के फायदे

 

शरीर में रक्त निर्माण तीव्र

किशमिश के सेवन से आप अनीमिया से बचे रहते हैं क्योंकि किशमिश आयरन का बेहतरीन स्रोत होता है। साथ ही इसमें विटामिन बी काम्प्लेक्स भी बहुतायत में पाया जाता है। ये सभी तत्व रक्त फॉर्मेशन में उपयोगी हैं।किशमिश यानी मुनक्का पाचन तंत्र में बेहद फायदेमंद है। मिनरल्स की मात्रा काफी होती है। यह हड्डियों के लिए काफी अच्छा होता है। दिनभर में 10-12 किशमिश ली जा सकती हैं। एक बात हमेशा ध्यान रखें कि भीगी हुई किशमिश में कैलरी की मात्रा काफी ज्यादा होती है। इसलिए इस बात का ध्यान रखें कि इसे ज्यादा मात्रा में न लें। इसे नियमित अपने आहार में शामिल करने से डाइजेशन में आराम मिलता है। असल में यह फाइबर से भरपूर होता है।

कैंसर के लिए उपयोगी

आपको जानकर हैरानी होगी कि किशमिश कैंसर जैसी घातक बीमारी की आशंका को भी कम कर सकती है। इसमें कैटेचिन नामक शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट पाया जाता है, जो शरीर को मुक्त कणों (Free Radicals) से बचाने का काम करता है। ये मुक्त कण ट्यूमर और पेट के कैंसर का कारण बन सकते हैं ।

बल्डप्रेसर का नियंत्रण रखना

रात को भिगोयी हुयी किशमिश वैसे तो सभी के लिए फायदेमंद है मगर इसका लाभ उन लोगों को मिल सकता है, जो हाई ब्लड प्रेशर यानी हाइपरटेंशन से परेशान हैं। किशमिश शरीर के ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करती है। इसमें मौजूद पोटैशियम तत्व आपको हाइपरटेंशन से बचाता है।

एसिडिटी में सहायक

एसिडिटी एक आम समस्या है, जो खानपान में गड़बड़ी के कारण हो जाती है। इससे निजात पाने के लिए आप किशमिश का सहारा ले सकते हैं। किशमिश में पोटैशियम और मैग्नीशियम जैसे पोषक तत्व होते हैं (6)। ये पोषक तत्व एसिडिटी को कम करने का काम करते हैं। इसके अलावा, ये पोषक तत्व गठिया, गाउट, पथरी और यहां तक कि हृदय रोग जैसी बीमारियों को रोकने में भी मदद करते हैं।

हार्ड मरीजों के लिए सहायक

किशमिश में मौजूद नेचुरल शुगर आसानी से पच जाती है. जिससे शरीर को तुरंत ही ताकत मिल जाती है. इसमें कोलेस्‍ट्रॉल नहीं होता है. इस वजह से ये दिल के मरीजों के लिए भी फायदेमंद है

रोग प्रतिरोधक क्षमता नियंत्रण

भीगो कर किशमिश को खाने और इसका पानी पीने से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है। इसमें एंटीऑक्सिडेंट्स पाया जाता है जो इम्यूनिटीको बढ़ाता है।

अत्यधिक ऊर्जावान पोषक तत्व

अंगूर को सूखाने के बाद उसमें मौजूद पोषक तत्व अधिक केंद्रित हो जाते हैं। आप रोजाना आधी मुट्ठी भर किशमिश नाश्ते में ले सकते है। इसमें विटामिन-बी के समूह (बी1, बी2, बी3, बी4, बी5, बी6, बी7 और बी12) से समृद्ध होती है, जो आपको दिन भर ऊर्जावान रखने में मदद करेंगे। इन पोषक तत्वों के अलावा इसमें मौजूद कार्बोहाइड्रेट भी एनर्जी का अच्छा स्रोत है। खासकर, अधिक शारीरिक श्रम करने वाले लोग किशमिश को अपने दैनिक जीवन में स्थान दे सकते हैं।

बुखार में मददगार

किशमिश खाने के फायदे बहुत हैं। एंटीऑक्सीडेंट और एंटीबैक्टीरियल गुणों से समृद्ध किशमिश संक्रमण को खत्म कर बुखार को कम कर सकती है। बुखार के लिए किशमिश का सेवन करने के लिए आप लगभग 20 किशमिश को एक घंटे के लिए एक कप पानी में भिगोकर रख दें और जब किशमिश नरम हो जाए, तो इसका सेवन करें। बुखार होने पर आप इस उपाय को रोजाना कर सकते हैं।

यौन स्वास्थ्य में मददगार

किशमिश यौन स्वास्थ्य को बनाए रखने में भी मददगार साबित हो सकती है। किशमिश में आर्जिनिन नामक एक एमिनो एसिड होता है, जो काम उत्तेजना को बढ़ाने का काम करता है। यह पुरुषों के लिए नपुंसकता (Erectile dysfunction) जैसी समस्या के लिए उपयोगी हो सकता है। इसके अलावा, किशमिश शरीर को ऊर्जावान बनाने का काम भी करती है। आप रोजाना दूध के साथ पांच-दस किशमिश का सेवन कर सकते हैं।

वजन बढ़ाने में सहायक

इसमे विटामिन, एमिनो एसिड और सेलेनियम और फास्फोरस खनिज पाए जाते हैं जो शरीर के लिए बहुत ही लाभकारी होती है। यह खराब कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को जमा किए बिना वजन बढ़ाने में मदद करता है।

Tags: , , , , , ,
Avatar

0 Comments

Leave a Comment

FOLLOW US

GOOGLE PLUS

PINTEREST

INSTAGRAM

YOUTUBE

Advertisement

RECENTPOPULARTAG