Sunday, July 12, 2020
Apple khane ke labh

सेब सबसे ज्‍यादा लो‍कप्रिय, स्‍वादिष्‍ट और पौष्टिक फलों में से एक है। इस लाल रंग के फल से अनेक लाभ और रहस्‍य जुड़े हुए हैं। सेब का मीठा और रसदार स्‍वाद बुहत पसंद किया जाता है। वैज्ञानिक भाषा में सेब को मेलस डोमेस्टिका कहा जाता है।कि सिकंदर महान के मध्‍य एशिया में आने के बाद ही सेब का प्रचलन शुरु हुआ था।

आपने भी कहावत सुनी होगी ‘एन एप्पल ए डे, कीपस द डॉक्टर अवे’. यानी हर दिन एक सेब खाने से आप तमाम बीमारियों से दूर रहते हैं. विभिन्न प्रकार के पोषक तत्वों से भरपूर सेब का सेवन आपको सेहतमंद बनाने के साथ ही आपकी पाचन क्रिया को दुरुस्त रखता है. सेब के सेवन से आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है.

सेब रेशे वाला फल है इसीलिए इसमें में फाइबर भी अच्छी मात्रा में पाया जाता है। सेब को खाने से पाचन तंत्र भी सही रहता है। यह एक अच्छा एंटी ओक्सिडेंट भी है जो मधुमेह, कैंसर, और दिमाग से सम्बंधित बीमारियों को दूर करने में भी मदद करता है। सेब शरीर में ग्लूकोज की मात्रा को सामान्य करता है। जिससे मधुमेह के रोगियों को लाभ होता है। मोटापा हो या फिर पेट से जुड़ी समस्याएं इसे खाने से बहुत राहत मिलती है।

सेब का पूरा हिस्‍सा खाया जाता है। सेब की 7500 से अधिक किस्‍में हैं और हर एक का अलग-अलग उपयोग किया जाता है। लाल रंग के सेब में प्रचुर मात्रा में एंटीऑक्‍सीडेंट्स मौजूद होते हैं और यही वजह है कि लाल रंग का सेब एंटी-एजिंग फल माना जाता है। इसके अलावा पीले और हरे रंग के सेब में ढ़ेर सारा क्‍यूरसेटिन होता है जो मानसिक स्‍वास्‍थ्‍य को बेहतर करने में मदद करता है। सेब से त्‍वचा भी स्‍वस्‍थ, सुंदर, मुलायम और चमकदार बनती है

सेब खाने के प्रमुक लाभ है जो निम्न है

हड्डियों को मज़बूत बनाने में –

कैल्शियम उन प्रमुख पोषक तत्वों में से एक है जो हड्डीयों और दांतों को मजबूत बनाता है। सेब कैल्शियम का एक अच्छा स्रोत माना जाता है। सेब में मौजूद अधिक कैल्शियम ऑस्टियोपोरोसिस और रूमेटोइड गठिया जैसी बीमारियों को रोकने में मदद करता है। इसमें एंटीऑक्सिडेंट्स (anti-oxidants) भी निहित हैं, जो ना केवल हड्डियों को मजबूती प्रदान करते हैं, अपितु हड्डी टूटने से भी बचाते हैं। सेब की त्वचा में पाया जाने वाला फेवोनोइड फ्लोरिज़िन ( favanoid phlorizin), रजोनिवृत्ति से जुड़ी हड्डियों की समस्या को भी रोकने में मदद कर सकता है, क्योंकि यह सूजन और मुक्त कणों के उत्पादन को रोकता है जो हड्डियों को नुकसान पहुंचाते हैं। तो यदि आपको स्वस्थ व मज़बूत हड्डियाँ चाहिए तो रोज़ाना ताजा सेब का सेवन करें।

मष्तिष्क से जुडी बीमारी से बचाये –

अल्जाइमर मष्तिष्क से जुडी बीमारी है| एक शोध में पाया गया है कि रोज सेव का जूस पीने से अल्जाइमर बीमारी से हमेशा बचा जा सकता है| सेव मष्तिष्क की कोशिकाओं की रक्षा करता है जिससे अल्जाइमर जैसे रोग नहीं होते है|

कैंसर से बचने के लिए –

फलों और सब्‍जीयों में कैंसर विरोधी गुण होते है, जिसमें सेब भी शामिल है। सेब का एक फायदा यह है कि वे एंटीऑक्सिडेंट से भरपूर होते है जो कैंसर को रोकने में मदद करते है। सेब में एसिटोजिनिन और एलिकॉइड जैसे योगिक होते हैं जो कैंसर और गुर्दे से संबंधित खतरों को कम करते है।
सेब में उपस्थित एंटीऑक्सिडेंट फेफड़े के कैंसर को कम करने के लिए लाभकारी होते है। जो लोग नियमित रूप से सेब, सफेद प्‍याज और अंगूर का सेवन करते है उनमें फेफड़े के कैंसर होने का खतरा कम होता है।

एनर्जी बढाए –

सेब उर्जा का एक बहुत अच्छा स्रोत है चूंकि यह फेफड़ो के लिए ऑक्सीजन की आपूर्ति में मदद करता है। इसलिए, आपको वर्कआउट करने से पहले कुछ सेब खाने की सलाह दी जाती है। यह आपकी क्षमता को बढ़ाता है और आपकी उर्जा के स्तर में भी वृद्धि करता है।

दमा रोगियों के लिए गुणकारी –

सेब या सेब के जूस के सेवन से दमा रोगियों को बहुत फायदा मिलता है. विभिन्न शोधों से साफ हो चुका है कि सेब दमे के अटैक को रोकने में कारगर है. इसमें पाया जाने वाला फ्लेवोनोइड्स फेफड़ों को ताकतवर बनाता है. शोध से भी यह भी साबित हुआ है कि जो लोग प्रतिदिन सेब का जूस पीते हैं उन्हें फेफड़ों से जुड़ी बीमारियां बहुत कम होती हैं.

मधुमेह की समस्याओं का इलाज –

सेब ना केवल रक्त में शुगर की मात्रा को नियंतत्रण में रखता है, अपितु शुगर के होने की संभावना को भी कम करता है। सेब पाचन प्रक्रिया और कार्बोहाइड्रेट के अवशोषण को प्रभावित करता है और रक्त प्रवाह में सुधार लाता है। यह इंसुलिन के उत्पादन को भी बढ़ाता है। एक अध्ययन में पाया गया है कि जो लोग प्रति सप्ताह तीन सेब खाते हैं, उनमें टाइप 2 मधुमेह होने की संभावना 7% तक कम हो जाती है।

गठिया के लिए फायदेमंद –

सेब में मैग्‍नीशियम की अच्‍छी मात्रा शरीर में, पानी और जोड़ो से निकलने वाले एसिड को नियंत्रित करता है। मैग्‍नीशियम गठिया और गठिया के लक्षणों को कम करने में लाभकारी होता है। सेब में कैल्शियम भी अच्‍छी मात्रा में होते है जो मांसपेशियों की कमजोरी (Muscle weakness) को दूर कर उन्‍हें मजबूत बनाते है।

पाचन तंत्र को मजबूत करें –

सेब में पाया जाने वाला अल्कालिनिटी लीवर को शरीर के शोधन में मदद करता है. साथ ही सेब शरीर में मौजूद पीएच के स्तर को भी नियंत्रित करता है. जिससे व्यक्ति का पाचन तंत्र मजबूत होता है. पाचन तंत्र मजबूत होने से उसमें रोगों से लड़ने की क्षमता बढ़ जाती है और वह स्वस्थ रहता है.

मज़बूत एवं सफेद दाँतों के लिए –

सेब पानी और फाइबर का एक अच्छा स्रोत है जो शरीर की आंतरिक सफाई करने के रूप में काम करता है। इसमें मैलिक एसिड होता है जो लार के उत्पादन को बढ़ाता है, जिससे मुंह के बैक्टीरिया हट जाते हैं। सेब दाँतों का पीलापन दूर करने एवं उन्हें स्वस्थ रखने में अत्यंत लाभदायक है। सेब के टूथब्रश के रूप में काम करने के गुण की वज़ह से इसे चबाकर खाने से अनेक जिद्दी दागों से छुटकारा मिल सकता है। सेब में विटामिन और खनिज की भी अच्छी मात्रा होती है जो दांतों को स्वस्थ करने में मदद करते हैं। सेब में मौजूद फाइबर आपके मसूड़ों के स्वास्थ्य में भी सुधार करता है। चूँकि सेब में शुगर एवं एसिड होता है, इसका सेवन करने के पश्‍चात कुल्ला अवश्य करना चाहिए।

पथरी से बचाए –

गुर्दे में होने वाली पथरी से बचाव के लिए सेब का सेवन लाभदायक रहता है. यदि आपके पथरी हो भी गई है और आप प्रतिदिन सेब खाते हैं तो आपको पथरी के कारण होने वाले दर्द में भी आराम मिलेगी. इसलिए पथरी रोगियों को चिकित्सक भी सेब खाने की सलाह देते हैं.

Tags: , , , , , ,
Avatar

0 Comments

Leave a Comment

FOLLOW US

GOOGLE PLUS

PINTEREST

INSTAGRAM

YOUTUBE

Advertisement

RECENTPOPULARTAG